आपका परिचय

शनिवार, 8 दिसंबर 2012

अविराम के दोनों प्रारूपों के प्रकाशन से सम्बंधित सूचना

कृपया अविराम/अविराम साहित्यिकी पत्रिका से जुड़ने से पहले इस सूचना की अवश्य पढ़ लें।

  • जो चित्रकार एवं फोटोग्राफी करने वाले मित्र अविराम में प्रकाशनार्थ अपने रेखांकन एवं छाया चित्र भेजना चाहते हैं, उनका स्वागत है। साथ में अपना परिचय एवं फोटो भी भेजें।
  • जिन रचनाकार मित्रों की कोई रचना अविराम के मुद्रित या ब्लॉग संस्करण में प्रकाशित हुई है और उन्होंने अपना फोटो व परिचय अभी तक हमें उपलब्ध नहीं कराया है, उनसे अनुरोध हैं की शीघ्रातिशीघ्र अपना  फोटो व परिचय  भेजने का कष्ट करें। भविष्य में पहली बार रचना भेजते समय फोटो  व अद्यतन परिचय अवश्य भेजें। 
  • जो रचना अविराम में प्रकाशनार्थ एक बार भेज दी गयी है,  उसे कृपया दुबारा न भेजें।
  • प्रत्येक रचना के साथ अपना नाम एवं पता अवश्य लिखें। ऐसी रचनाएं, जिनके साथ रचनाकार का नाम व पता नहीं लिखा होगा,  हम भविष्य में उपयोग नहीं कर पायेंगे और उन्हें नष्ट कर देंगें।  
  • किसी भी प्रकाशित सामग्री पर हम किसी भी रूप में पारिश्रमिक देने की स्थिति में नहीं हैं। अत: पारिश्रमिक के इच्छुक मित्र क्षमा करें।
  •  अविराम साहित्यिकी के  सामान्य अंकों हेतु लघुकथा विषयक सामग्री हमें सीधे रुड़की के पते पर भेजना कृपया जारी रखें।
  •     अविराम के नियमित स्तम्भों के लिए क्षणिकाएं एवं जनक छंद की स्तरीय रचनाएं बहुत कम मिल पा रही हैं। क्षणिका पर हमारी एक और योजना भी विचाराघीन है। रचनाकारों से अपील है कि स्तरीय क्षणिकाएं अधिकाधिक संख्या में भेजकर सहयोग करें। ग़ज़ल विधा में हमारे पास फ़िलहाल काफी रचनाएँ विचाराधीन हैं, अत: आगामी छ:माह तक गज़लें न भेजना ही उचित होगा। 
  • प्राप्त पुस्तकों के प्रकाशन सम्बन्धी सूचना सहयोग की भावना से मुद्रित अंक में प्रकाशित की जाती है। कुछ प्राप्त पुस्तकों की चर्चा हम ब्लॉग प्रारूप पर पुस्तक से कुछ रचनाएं पाठकों के समक्ष रखकर भी करने का प्रयास करते हैं। ब्लॉग एवं मुद्रित प्रारूप में यद्यपि हम अधिकाधिक पुस्तकों की समीक्षा/संक्षिप्त समीक्षा/पुस्तक परिचय भी देने का प्रयास करते हैं, तदापि यह कार्य पूरी तरह स्थान की उपलब्धता एवं हमारी सुविधा पर निर्भर करता है। इस संबन्ध में किसी मित्र से हमारा कोई आश्वासन नहीं है।
  • अविराम साहित्यिकी के सामान्य अंकों हेतु सामग्री दिनांक 01.12.2014 से अंक संपादक को डॉ. उमेश महादोषी को 121, इन्द्रपुरम, निकट बी.डी.ए. कॉलोनी, बदायूं रोड, बरेली, उ.प्र. के पते पर भेजें।
  • अविराम के नियमित स्तम्भों के लिए क्षणिकाएं एवं जनक छंद की स्तरीय रचनाएं बहुत कम मिल पा रही हैं। क्षणिका पर हमारी एक और योजना भी विचाराघीन है। रचनाकारों से अपील है कि स्तरीय क्षणिकाएं अधिकाधिक संख्या में भेजकर सहयोग करें। ग़ज़ल विधा में हमारे पास फ़िलहाल काफी रचनाएँ विचाराधीन हैं, अतः आगामी छः माह तक गज़लें न भेजना ही उचित होगा। 
  • प्राप्त पुस्तकों के प्रकाशन सम्बन्धी सूचना सहयोग की भावना से मुद्रित अंक में प्रकाशित की जाती है। कुछ प्राप्त पुस्तकों की चर्चा हम ब्लॉग प्रारूप पर पुस्तक से कुछ रचनाएं पाठकों के समक्ष रखकर भी करने का प्रयास करते हैं। ब्लॉग एवं मुद्रित प्रारूप में यद्यपि हम अधिकाधिक पुस्तकों की समीक्षा/संक्षिप्त समीक्षा/पुस्तक परिचय भी देने का प्रयास करते हैं, तदापि यह कार्य पूरी तरह स्थान की उपलब्धता एवं हमारी सुविधा पर निर्भर करता है। इस संबन्ध में किसी मित्र से हमारा कोई आश्वासन नहीं है।
  • कृपया अविराम साहित्यिकी का शुल्क ‘अविराम साहित्यिकी’ के नाम ही चेक या मांग ड्राफ्ट द्वारा भेजें, व्यक्तिगत नाम में नहीं। हमारे बार-बार अनुरोध के बावजूद कुछ मित्र अविराम साहित्यिकी का शुल्क ‘अविराम साहित्यिकी’ के नाम भेजने की बजाय उमेश महादोषी या प्रधान सम्पादिका के पक्ष में इस तरह से चैक बनाकर भेज देते हैं, कि उन चैकों का भुगतान हमारे लिए प्राप्त करना सम्भव नहीं होता है। इस तरह के चैकों को वापस करना भी हमारे लिए बेहद खर्चीला होता है, अतः हम ऐसे चैक वापस कर पाने में असमर्थ हैं। उन्हें अपने स्तर पर नष्ट कर देने के अलावा हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। कई कारणों से धनादेश द्वारा राशि स्वीकार करना हमने बंद कर दिया है, अतः कृपया धनादेश द्वारा भी कोई राशि न भेजें। धनादेश द्वारा भेजी किसी राशि का अविराम साहित्यिकी एवं उसकी सदस्यता आदि से कोई संबंध नहीं होगा।
  • सामान्य मुद्रित अंकों में जुलाई-सितम्बर 2012 अंक से मूल पृष्ठों की संख्या बढ़ाकर 72 कर दी गयी है। बढ़े हुए पृष्ठों के बावजूद अक्टूबर 2014 तक हमने शुल्क में वृद्धि को टाले रखा, लेकिन बढ़े हुए अन्य व्ययों से विविश होकर 14 नवम्बर 2014 से अविराम साहित्यिकी के शुल्क में वृद्धि कर दी गयी है। एक प्रति का खुदरा मूल्य रु. 25/- किया गया है, तदनुसार त्रैवार्षिक सदस्यता शुल्क रु. 300/- एवं आजीवन सदस्यता शुल्क रु. 1100/- कर दिया गया है। वार्षिक सदस्यता का प्रावधान समाप्त कर दिया गया है। अब न्यूनतम तीन वर्ष की सदस्यता ही दी जायेगी। चूंकि पत्रिका के स्थाई प्रकाशन एवं विकास के लिए एक स्थाई निधि बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं, अतः रचनाकार व पाठक मित्रों से अनुरोध है कि आजीवन सदस्य बनकर सहयोग करने को प्राथमिकता देने की कृपा करें।
  • यदि वास्तव में आप इस लघु पत्रिका की आर्थिक सहायता करना चाहते हैं तो राशि केवल ‘अविराम साहित्यिकी’ के ही पक्ष में चेक या मांग ड्राफ्ट द्वारा व्यवस्थापक/अंक संपादक डॉ. उमेश महादोषी के पते 121, इन्द्रापुरम, निकट बी.डी.ए. कॉलोनी, बदायूं रोड, बरेली, उ.प्र. के पते पर भेजें। राशि को सीधे ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स, रुड़की शाखा में स्थित अविराम साहित्यिकी के खाता संख्या 03401131002357, आई.एफ.एस. कोड  ORBC0100340 में भी जमा कराया जा सकता है। लेकिन जमा कराने के तुरन्त बाद टेलीफोन सन्देश द्वारा हमें सूचना अवश्य दे दें। आपकी आजीवन सदस्यता से प्राप्त राशि पत्रिका के दीर्घकालीन प्रकाशन एवं भविष्य में पृष्ठ संख्या बढ़ाने की दृष्टि से एक स्थाई निधि की स्थापना हेतु निवेश की जायेगी। पर्याप्त राशि के संग्रहण तक इस निधि से कोई भी राशि पत्रिका के प्रकाशन-व्यय सहित किसी भी मद पर व्यय न करने का प्रयास किया जायेगा।

2 टिप्‍पणियां:

  1. 'अविराम ' के आजीवन सदस्य को इसकी प्रतियों के लिए अलग शुल्क देना पड़ेगा या प्रतियाँ निशुल्क मिलेगी ? स्पष्ट करें .
    नई रचना उम्मीदों की डोली !

    उत्तर देंहटाएं
  2. आद. कालीपद जी
    किस चीज की प्रति के बारे में आप जानना चाहते हैं। यदि आपकी जिज्ञासा अविराम साहित्यिकी की प्रति के बारे में है, तो हर सदस्य को अविराम साहित्यिकी की प्रति भेजी जाती है। उन्हे भुगतान किए शुल्क के एवज में प्रति पाने का अधिकार भी है। यदि इन्टरनेट पर अविराम के ब्लॉग की हार्ड कॉपी चाहते हैं तो हमारे स्तर पर इसकी कोई व्यवस्था नहीं है। आपको अपने स्तर पर ही प्रिंट लेना पड़ैगा। हम केवल आपके मेल आई डी पर लिंक भेज पायेंगे।
    आपका अपना
    उमेश महादोषी

    उत्तर देंहटाएं