आपका परिचय

गुरुवार, 31 जनवरी 2013

अविराम विस्तारित

अविराम का ब्लॉग :  वर्ष : 2,  अंक : 5,   जनवरी  2013  

।।हाइकु।।

सामग्री : इस अंक में महावीर उत्तरांचली के पाँच हाइकु।

महावीर उत्तरांचली



पाँच हाइकु

1.
फूल-सा तन
हरा-भरा यौवन
बहके मन

2.
काली घटाएं
जब भी घिर आएं
हमें लुभाएं

3.
कब से मौन
छायाचित्र : डॉ बलराम अग्रवाल 
हृदय के भीतर
छिपा है कौन

4.
खूब सताया
तेरी यादों ने आकर
खूब रुलाया

5.
हम बेहाल
चली फिर आपने
गहरी चाल

  • बी-4/79, पर्यटन विहार, बसुन्धरा एंक्लेव, नई दिल्ली-110096

1 टिप्पणी:

  1. खूबसुरत काव्य.
    ............................................
    मेरी कविताएँ
    http://yuvaam.blogspot.com/p/blog-page_9024.html?m=0

    उत्तर देंहटाएं