आपका परिचय

शुक्रवार, 28 सितंबर 2012

228. डॉ. गौरीशंकर श्रीवास्तव ‘पथिक’

डॉ. गौरीशंकर श्रीवास्तव ‘पथिक’

जन्म :  01.07.1939, कीड़गंज, इलाहाबाद (उ.प्र.) में।

शिक्षा :  एम.ए. (हिन्दी), साहित्य रत्न, डी.एच.एम.डी.एन.टी.। भागलपुर से विद्यावाचस्पति की मानद् उपाधि।

लेखन/प्रकाशन/योगदान :  मूलतः कवि, कथा साहित्य में भी कुछ योगदान। 1954 से अनवरत लेखन। अनेकों पत्र-पत्रिकाओं में एक हजार से अधिक कविताएं तथा 50 से अधिक कहानियां प्रकाशित। करीब बाईस काव्य पुस्तकें एवं एक कहानी संग्रह प्रकाशित। म.प्र. आंचलिक साहित्यकार परिषद की प्रान्तीय कार्यकारिणी के अध्यक्ष होने के साथ कई अन्य संस्थाओं से भी सम्बद्ध। 

सम्मान :  विभिन्न संस्थाओं द्वारा दो दर्जन से अधिक सम्मानों से विभूषित।

सम्पर्क :  पथिक कुटीर, जवाहर नगर, सतना (म.प्र.)
               मोबाइल :  09827625916



अविराम में प्रकाशन  

ब्लॉग संस्करण :  दिसम्बर 2011 अंक में पांच हाइकु।





नोट : १. परिचय के शीर्षक के साथ दी गयी क्रम  संख्या हमारे कंप्यूटर में संयोगवश  आबंटित  आपकी फाइल संख्या है. इसका और कोई अर्थ नहीं है।
२. उपरोक्त परिचय हमें भेजे गए अथवा हमारे द्वारा विभिन्न स्रोतों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है. किसी भी त्रुटि के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं. त्रुटि के बारे में रचनाकार द्वारा हमें सूचित करने पर संशोधन कर दिया जायेगा। यदि रचनाकार अपने परिचय में कुछ अन्य सूचना शामिल करना चाहते हैं, तो इसी पोस्ट के साथ के टिपण्णी कॉलम में दर्ज कर सकते हैं। यदि किसी रचनाकार को अपने परिचय के इस प्रकाशन पर आपत्ति हो, तो हमें सूचित कर दें, हम आपका परिचय हटा देंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें