आपका परिचय

मंगलवार, 12 जुलाई 2011

अंक: 3/ मार्च 2010
प्रधान सम्पादिका : मध्यमा गुप्ता/सम्पादक : डा. उमेश महादोषी /सम्पादन परामर्श : सुरेश सपन/मुद्रण सहयोगी : पवन कुमार
इस अंक में शामिल रचना सामग्री और रचनाकारों का विवरण निम्न प्रकार है-

  • प्रस्तुति : प्रधान सम्पादिका श्रीमती मध्यमा गुप्ता का अविराम के बारे में जानकारी देता हुआ स्तम्भ (पृष्ठ : आवरण 2)।
  • माइक पर : सम्पादक डा. उमेश महादोषी का वैचारिक स्तम्भ (पृष्ठ : 3)।
  • लघुकथा के स्तम्भ : बलराम अग्रवाल और उनकी लघुकथाएं (पृष्ठ : 4)।
  • अनवरत : चाँद शेरी (पृष्ठ : 10), अनुराग मिश्र ‘गैर’ (पृष्ठ : 11), डा. ए. कीर्तिबर्द्धन (पृष्ठ : 12), डा. सुरेश सपन (पृष्ठ : 13), विवेक सत्यांशु (पृष्ठ : 14) एवं डा. उमेश महादोषी (पृष्ठ : 14) की कविताएं।
  • कथा प्रवाह : जोगेश्वरी सधीर (पृष्ठ : 16), डा. पूरन सिंह (पृष्ठ : 16) एवं पुष्पा रघु (पृष्ठ : 18) की लघुकथाएं।
  • कविता के हस्ताक्षर : अशोक कुमार पाण्डेय (पृष्ठ : 19), ईशिता आर. गिरीश (पृष्ठ : 26) व ओम नागर (पृष्ठ : 29) एवं उनकी कविताएं।
  • पड़ताल : लघुकथा में शब्द-प्रयोग सम्बन्धी सावधानियाँ/बलराम अग्रवाल (पृष्ठ : 33)
  • कवि सम्मेलन : अलीहसन मकरैंडिया (पृष्ठ : 38), मोहन द्विवेदी (पृष्ठ : 40), बाबा कानपुरी (पृष्ठ : 42) व डा0 महेन्द्र प्रताप पाण्डेय ‘नन्द’ (पृष्ठ : 42) की कविताएं।
  • आहट : नारायण सिंह निर्दोष, डा. सुरेश सपन, बलराम अग्रवाल, डा. पंकज परिमल, प्रशान्त उपाध्याय, संजय शुक्ला व डा. उमेश महादोषी की क्षणिकाएं (पृष्ठ : 45)
  • साभार : डा. पंकज परिमल की कविता ‘सोने की पाँखों वाले हंस से’ (पृष्ठ : 47)
  • प्राप्ति स्वीकार : डा. राम कुमार घोटड़ द्वारा सम्पादित दो पुस्तकों एवं डा. ए. कीर्तिबर्द्धन द्वारा रचित तीन पुस्तकों की प्राप्ति सूचना।
  • और अन्तिम आवरण पृष्ठ राजू रंगीला की समृतियों को अर्पित।



इस अंक की साफ्ट प्रति ई मेल (umeshmahadoshi@gmail.com) से मंगायी जा सकती है।
इस अंक के पाठक अंक की रचनाओं पर इस विवरण के नीचे टिप्पणी कालम में अपनी प्रतिक्रिया स्वयं पोस्ट कर सकते हैं। कृपया संतुलित प्रतिक्रियाओं के अलावा कोई अन्य सूचना पोस्ट न करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें