आपका परिचय

बुधवार, 16 नवंबर 2011

38. स्व. कालीचरण प्रेमी

स्व. कालीचरण प्रेमी
 
{दुर्भाग्यवश वरिष्ठ साहित्यकार एवं प्रमुख लघुकथाकार प्रेमी जी आज हमारे बीच नहीं हैं। अविराम के पुनर्प्रकाशन के साथ ही उनसे हमारा सम्पर्क हुआ था। उन्होंने अपनी कुछ लघुकथाओं के साथ कई अन्य मित्रों की रचनाएँ भी उपलब्ध करवाकर हमें अपना महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान किया था। हम अपनी स्मृतियों में उन्हें हमेशा बनाये रखते हुए समय-समय पर उनकी रचनाएँ पाठकों के समक्ष रखते रहेंगे। यहाँ उनका संक्षिप्त परिचय प्रस्तुत है।}


 
जन्म : 15 जुलाई 1962, ग्राम मोरटा (गा0बाद) में।
शिक्षा : हिन्दी में स्नातकोत्तर एवं शिक्षा में स्नातक।
लेखन/प्रकाशन/योगदान  :  कहानी, लघुकथा, व्यंग्य तथा बाल साहित्य। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशन। ‘कीलें’ तथा ‘तवा’ उनके महत्वपूर्ण लघुकथा संग्रह हैं। ‘अन्धा मोड़’ लघुकथा संकलन का सम्पादन किया। सहकार संचय, गंगा महिमा एवं साहित्य जनमंच सहित कई पत्र-पत्रिकाओं के सम्पादन-प्रकाशन से समय-समय पर सम्बद्ध रहे। कई संस्थाओं द्वारा सम्मानित। सांस्कृतिक-साहित्यिक संस्था ‘अदिति’के सचिव रहे। अनेक महत्वपूर्ण साहित्यिक कार्यक्रमों के आयोजन में सहभागी।
परिवार के सदस्यों से सम्पर्क का पता :  ए-106, बाग कालौनी, शास्त्रीनगर, गाजियाबाद-201002, उ.प्र.

                    


अविराम में आपकी रचनाओं का प्रकाशन   

मुद्रित प्रारूप :  जून २०१० अंक में दो लघुकथाएं-  समायोजन, बेखबर

 
ब्लॉग प्रारूप (अविराम विस्तारित) : अभी कोई नहीं 



नोट : १. परिचय के शीर्षक के साथ दी गयी क्रम  संख्या हमारे कंप्यूटर में संयोगवश  आबंटित  आपकी फाइल संख्या है. इसका और कोई अर्थ नहीं है
२. उपरोक्त परिचय हमें भेजे गए अथवा हमारे द्वारा विभिन्न स्रोतों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है. किसी भी त्रुटि के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं. त्रुटि के बारे में रचनाकार द्वारा हमें सूचित करने पर संशोधन कर दिया जायेगायदि रचनाकार अपने परिचय में कुछ अन्य सूचना शामिल करना चाहते हैं, तो इसी पोस्ट के साथ के टिपण्णी कॉलम में दर्ज कर सकते हैं। यदि किसी रचनाकार को अपने परिचय के इस प्रकाशन पर आपत्ति हो, तो हमें सूचित कर दें, हम आपका परिचय हटा देंगे
 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें