आपका परिचय

बुधवार, 26 अगस्त 2015

ब्लॉग का मुखप्रष्ठ

अविराम  ब्लॉग संकलन :  वर्ष  : 4,   अंक  :  07-12,  मार्च-अगस्त  2015



प्रधान संपादिका : मध्यमा गुप्ता
संपादक :  डॉ. उमेश महादोषी (मोबाइल: 09458929004)
संपादन परामर्श :  डॉ. सुरेश सपन 
ई मेल :  aviramsahityaki@gmail.com 


शुल्क, प्रकाशन आदि संबंधी जानकारी इसी ब्लॉग के ‘अविराम का प्रकाशन’लेवल/खंड में दी गयी है।

छायाचित्र : अभिशक्ति


।।सामग्री।।

कृपया सम्बंधित सामग्री के पृष्ठ पर जाने के लिए स्तम्भ के साथ कोष्ठक में दिए लिंक पर क्लिक करें।



सम्पादकीय पृष्ठ {सम्पादकीय पृष्ठ}:  नई पोस्ट नहीं।

अविराम विस्तारित : 

काव्य रचनाएँ {कविता अनवरत} : इस अंक में डॉ. पंकज परिमल, श्री रमेश गौतम,  डॉ. दुर्गा चरण मिश्र, डॉ. अहिल्या मिश्र, विजय चतुर्वेदी, पं. गिरिमोहन गुरु, श्री रामेश्वर दयाल शर्मा ‘दयाल’, श्री रमेशचन्द्र शर्मा ‘चन्द्र’, एवं श्री श्याम ‘अंकुर’ की काव्य रचनाएँ।

लघुकथाएँ {कथा प्रवाह} : इस अंक में श्री  स्व. श्री सुरेश शर्मा, स्व. श्री एन उन्नी,  डॉ. बलराम अग्रवाल, श्री मधुदीप,  डॉ. कमल चौपड़ा, सुश्री सुदर्शन रत्नाकर, डॉ. चन्द्रा सायता, सुश्री सुधा भार्गव  की लघुकथाएँ।

कहानी {कथा कहानी} : नई पोस्ट नहीं।

क्षणिकाएँ {क्षणिकाएँ} : इस अंक में श्री भवेश चन्द्र जायसवाल एवं श्री चक्रधर शुक्ल की क्षणिकाएँ।

हाइकु व सम्बंधित विधाएँ {हाइकु व सम्बन्धित विधाएँ} :  इस अंक में डॉ. सुरेन्द्र वर्मा व सुश्री कृष्णा वर्मा के हाइकु तथा डॉ. उर्मिला अग्रवाल के ताँका।

जनक व अन्य सम्बंधित छंद {जनक व अन्य सम्बन्धित छन्द} : इस अंक में श्री मुखराम माकड़ ‘माहिर’ के जनक छन्द।

माँ की स्मृतियां {माँ की स्मृतियां} :  नई पोस्ट नहीं।

बाल अविराम {बाल अविराम} : इस अंक में कवि सुशील पाण्डेय की तीन बाल कविताएँ बाल चित्रकार अभय ऐरन एवं आरुषि ऐरन  के चित्रों के साथ।

हमारे सरोकार {सरोकार} :  नई पोस्ट नहीं।

व्यंग्य रचनाएँ {व्यंग्य वाण} :  इस अंक में दिलबागसिंह विर्क का व्यंग्यालेख 'अनोखे हैं मि. अनोखे लाल' तथा ओम प्रकाश मंजुल का व्यंग्यालेख 'काग-रेस सुषमा के पीछे क्यों पड़ी है?' ।

संभावना {संभावना} :  नई पोस्ट नहीं।

स्मरण-संस्मरण {स्मरण-संस्मरण} :  नई पोस्ट नहीं।

क्षणिका विमर्श {क्षणिका विमर्श} : नई पोस्ट नहीं।

अविराम विमर्श {अविराम विमर्श} : इस अंक में दो साक्षात्कार-  राज हीरामन के आने का अर्थ :  डॉ. सतीश दुबे (मॉरीशस के प्रतिष्ठित साहित्यकार श्री राज हीरामन के साथ अनौपचारिक भेंटवार्ता पर आधारित) तथा अनुवाद राष्ट्र-सेवा का कर्म है :  डॉ.शिबनकृष्ण रैणा (सुप्रसिद्ध समालोचक प्रो. जीवन सिंह के साथ बातचीत पर आधारित)।

किताबें {किताबें} :  इस अंक में समकालीन सामाजिक विसंगतियों पर तिरछी नजर के निशाने / श्री कन्हैयालाल गुप्त ‘सलिल’ के व्यंग्य कविता संग्रह 'दुर्गति-चालीसा' की डॉ. सूर्यप्रसाद शुक्ल द्वारा तथा साहित्य धर्म का निर्वाह करती कविताएँ / प्रशान्त उपाध्याय के काव्य संग्रह 'शब्द की आँख में जंगल'  की डॉ. उमेश महादोषी द्वारा समीक्षा। 

लघु पत्रिकाएँ {लघु पत्रिकाएँ} : नई पोस्ट नहीं।

हमारे युवा {हमारे युवा} :  नई पोस्ट नहीं।

गतिविधियाँ {गतिविधियाँ} :  पिछले दिनों प्राप्त साहित्यिक गतिविधियों की सूचनाएं/समाचार।

अविराम की समीक्षा {अविराम की समीक्षा} :  नई पोस्ट नहीं।

अविराम के अंक {अविराम के अंक} : इस अंक में अविराम साहित्यकी के अप्रैल-जून  2015 मुद्रित अंक में प्रकाशित सामग्री की सूची।

अविराम साहित्यिकी के मुद्रित संस्करण के पाठक सदस्य {हमारे आजीवन पाठक सदस्य} :  अविराम साहित्यिकी के मुद्रित संस्करण के  20 अगस्त 2015  तक अद्यतन आजीवन एवं वार्षिक पाठक सदस्यों की सूची।

अविराम के रचनाकार {अविराम के रचनाकार} :  नई पोस्ट नहीं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें