आपका परिचय

गुरुवार, 28 जून 2012

195. आर. पी. शर्मा ‘महर्षि’


195. आर. पी. शर्मा ‘महर्षि’






वरिष्ठ साहित्यकार महर्षि जी ग़ज़ल के विशेषज्ञ हैं। उनकी ‘ग़ज़ल-सृजन’ ग़ज़ल सीखने वालों के लिए महत्वपूर्ण पुस्तक मानी जाती है।




सम्पर्क :  फ्लैट नं.402, प्लॉट नं.11/ए, श्री रामनिवास टट्टा निवासी ब्भ्ैए पेस्टम सागर रोड नं.3, महल-घाटकोपर रोड, चेम्बूर, मुम्बई-400089
            मोबाइल : 09321545179




अविराम में प्रकाशन


मुद्रित संस्करण :  जून 2011 अंक में एक जनक छन्द।
ब्लाग संस्करण :  अक्टूबर 2011 अंक में पांच जनक छन्द।









नोट : १. परिचय के शीर्षक के साथ दी गयी क्रम  संख्या हमारे कंप्यूटर में संयोगवश  आबंटित  आपकी फाइल संख्या है. इसका और कोई अर्थ नहीं है
२. उपरोक्त परिचय हमें भेजे गए अथवा हमारे द्वारा विभिन्न स्रोतों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है. किसी भी त्रुटि के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं. त्रुटि के बारे में रचनाकार द्वारा हमें सूचित करने पर संशोधन कर दिया जायेगा। यदि रचनाकार अपने परिचय में कुछ अन्य सूचना शामिल करना चाहते हैं, तो इसी पोस्ट के साथ के टिपण्णी कॉलम में दर्ज कर सकते हैं। यदि किसी रचनाकार को अपने परिचय के इस प्रकाशन पर आपत्ति हो, तो हमें सूचित कर दें, हम आपका परिचय हटा देंगे

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें