आपका परिचय

मंगलवार, 20 नवंबर 2012

295. राजेन्द्र नाथ ‘रहबर’


राजेन्द्र नाथ ‘रहबर’




जन्म : 05.11.1931, शकरगढ़, पंजाब (वर्तमान में पाकिस्तान का हिस्सा)

शिक्षा :  एम.ए. (अर्थशास्त्र), एल.एल.बी.।

लेखन/प्रकाशन/योगदान :  उर्दू के जाने-माने शायर। आपकी ग़ज़लों को विश्व प्रसिद्ध गायक जगजीत सिंह का स्वर मिला और आपकी नज़्म ‘तेरे ख़ुश्बू में बसे खत’ को विश्व भर में प्रसिद्धि मिली। 1961 में प्रकाशित हिमाचल प्रदेश के 22 उर्दू शायरों के प्रसंग वाले संकलन में शामिल। कलश (1962 में फारसी लिपि में प्रकाशित कविता संग्रह), मल्हार (1975 में देवनागरी लिपि में प्रकाशित कविता संग्रह), ....और शाम ढल गई (फारसी लिपि में 1976 में प्रकाशित काव्य संग्रह), जेबे सुख़न (फारसी लिपि में 1997 में प्रकाशित काव्य संग्रह) तेरे ख़ुशबू में बसे ख़त (2003 में देवनागरी लिपि में प्रकाशित काव्य संग्रह/इंटरनेट पर  in.geocities.com एवं http://rehbarsaheb.blogspot.in/  पर उपलब्ध), याद आऊँगा (2006 में देवनागरी एवं फारसी दोनों लिपियों में अलग-अलग प्रकाशित ग़ज़ल संग्रह)। आपकी रचनाएँ  in.geocities.com रविकान्त एवं धीरू जी के ब्लाग http://rehbarsaheb.blogspot.in/, वेबसाइट ‘कविता कोश’ एवं अपने ब्लॉग ‘याद आऊँगा’ (http://rehbarsaab.blogspot.in/) पर उपलब्ध।

सम्मान :  ‘....और शाम ढल गई’ पर बिहार उर्दू अकादमी द्वारा अवार्ड, जेबे सुख़न पर पंजाब सरकार के भाषा विभाग द्वारा 1997 की सर्वोत्तम मुद्रित उर्दू पुस्तक मानकर अवार्ड तथा पंजाब उर्दू अकादमी व अन्य संस्थाओं द्वारा सम्मानित।

संपर्क :  1085, सराए मुहल्ला, पठानकोट-145001 (पंजाब)
            फोन :  0186-2227522 / मोबाइल :  09417067191



अविराम में प्रकाशन

ब्लॉग प्रारूप :  जनवरी 2012 अंक में दो ग़ज़लें।





नोट : १. परिचय के शीर्षक के साथ दी गयी क्रम  संख्या हमारे कंप्यूटर में संयोगवश  आबंटित  आपकी फाइल संख्या है. इसका और कोई अर्थ नहीं है।
२. उपरोक्त परिचय हमें भेजे गए अथवा हमारे द्वारा विभिन्न स्रोतों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है. किसी भी त्रुटि के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं. त्रुटि के बारे में रचनाकार द्वारा हमें सूचित करने पर संशोधन कर दिया जायेगा। यदि रचनाकार अपने परिचय में कुछ अन्य सूचना शामिल करना चाहते हैं, तो इसी पोस्ट के साथ के टिपण्णी कॉलम में दर्ज कर सकते हैं। यदि किसी रचनाकार को अपने परिचय के इस प्रकाशन पर आपत्ति हो, तो हमें सूचित कर दें, हम आपका परिचय हटा देंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें