आपका परिचय

बुधवार, 24 मई 2017

अविराम विस्तारित

अविराम  ब्लॉग संकलन,  वर्ष  :  6,   अंक  :  01-04 , सितम्बर-दिसम्बर 2016 



।।हाइकु ।।


डॉ. पुरुषोत्तम दुबे




हाइकु

01.
नदिया बहे
भँवर में न जाना
किनारा कहे।

02.
ओक से पीना
स्वाद खूब पानी का
पीकर जीना।

03.
पानी का रेला
बह निकला फिर
रेलम पेला।
रेखा चित्र : स्व. पारस दासोत 

04.
पानी माँगेगा
न खेल प्रकृति से
सूली टाँगेगा।

05.
पानी का रंग
मिला दो जिस रंग
उसके संग।

  • ‘शशीपुष्प’, 74 जे/ए, स्कीम नं.71, इन्दौर-452009 (म.प्र.)/मोबा. 09407186940 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें