आपका परिचय

सोमवार, 27 फ़रवरी 2012

सामग्री एवं सम्पादकीय पृष्ठ : फरवरी २०१२

अविराम  ब्लॉग संकलन :  वर्ष : १, अंक : ०६, फरवरी  २०१२ 

प्रधान संपादिका : मध्यमा गुप्ता
संपादक : डॉ. उमेश महादोषी 
संपादन परामर्श : डॉ. सुरेश सपन  
फोन : ०९४१२८४२४६७ एवं ०९०४५४३७१४२ 
ई मेल : aviramsahityaki@gmail.com 

रेखांकन : किशोर श्रीवास्तव 
।।सामग्री।।
कृपया सम्बंधित सामग्री के प्रष्ट पर जाने के लिए स्तम्भ के साथ कोष्ठक में दिए लिंक पर क्लिक
 करें ।

अविराम विस्तारित :

काव्य रचनाएँ  {कविता अनवरत} :  इस अंक में चंद्रभान भारद्वाज,  श्याम सुन्दर अग्रवाल, महेश सक्सेना, डॉ. महाश्वेता चतुर्वेदी, खदीज़ा खान , विज्ञान व्रत, डॉ. रुक्म त्रिपाठी, मोह.मुइनुद्दीन ‘अतहर’, पूनम गुप्ता एवं अमित कुमार लाडी की काव्य रचनाएँ।

लघुकथाएं   {कथा प्रवाह} :  इस अंक में  पूरन मुदगलविक्रम सोनी,  पारस दासोत,  डॉ. पूरन सिंह एवं खेमकरण ‘सोमन’ की लघुकथाएं।  

कहानी {कथा कहानी इस अंक में राजेन्द्र परदेशी की कहानी- 'नई राहें'  

क्षणिकाएं  {क्षणिकाएँ इस अंक में हरकीरत ‘हीर’ एवं मीना गुप्ता की क्षणिकाएं।

हाइकु व सम्बंधित विधाएं  {हाइकु व सम्बन्धित विधाएँ}  :  इस अंक में सुभाष नीरव, डॉ सतीश राज पुष्करणा, डॉ हरदीप सन्धु  एवं रमेश कुमार सोनी के हाइकु ।

जनक व अन्य सम्बंधित छंद  {जनक व अन्य सम्बन्धित छन्द:  इस अंक में    डॉ. ब्रह्मजीत गौतम के जनक छंद।  

व्यंग्य रचनाएँ  {व्यंग्य वाण:  इस अंक में ओम प्रकाश मंजुल का व्यंग्यालेख 'सौ रुपये में भारत माता की जय'।
संभावना  {सम्भावना इस अंक में नए हस्ताक्षर अर्जुन सिंह ‘तन्हा’ अपनी कविता के साथ

अविराम विमर्श {अविराम विमर्श} : डॉ0 मिथिलेश दीक्षित का आलेख वर्तमान परिवेश में नारी की भूमिका : विविध आयाम

किताबें   {किताबें} : सत्य सेवक मिश्र द्वारा  श्री हरिश्चंद्र  शाक्य की कृति ‘पूरब की बाँसुरी-पश्चिम की तान’ (हाइकु संग्रह)  की परिचयात्मक समीक्षा  

लघु पत्रिकाएं   {लघु पत्रिकाएँ} : इस बार साहित्यिक  पत्रिका 'सरस्वती सुमन' पर परिचयात्मक  टिप्पणी  

गतिविधियाँ   {गतिविधियाँ} : पिछले माह प्राप्त साहित्यिक गतिविधियों की सूचनाएं/समाचार

अविराम के अंक  {अविराम के अंक} : अविराम साहित्यिकी के अंक ०१, जनवरी-मार्च २०१२ में प्रकाशित सामग्री/रचनाकारों का विवरण 

अविराम के रचनाकार  {अविराम के रचनाकार} : अविराम के आठ  और रचनाकारों का परिचय।


।।मेरा पन्ना/उमेश महादोषी।।

  • पंजीकरण के बाद अविराम साहित्यिकी का पहला अंक प्रकाशित हो चूका है तथा प्रेषित किया जा रहा हैं। आशा है पाठकों-मित्रों को पसंद आएगा। क्षणिका पर पर्याप्त एवं स्तरीय रचनाएँ प्राप्त न होने के कारण कार्य अपेक्षित गति से नहीं हो पा रहा हैं। सभी मित्रों से स्तरीय क्षणिकाएं अधिकाधिक संख्या में भेजने का हम पुन: अनुरोध करते हैं
  • ब्लॉग  पर आपकी  समालोचनात्मक प्रतिक्रियाएं रचनात्मक चिंतन और स्तर- दोनों को ही प्रोत्साहित करती हैं, अत: ब्लॉग को पढ़कर जहाँ तक संभव हो, अपनी टिप्पणी अवश्य दर्ज करें
  • मुद्रित रूप में 'अविराम साहित्यिकी' का वार्षिक शुल्क  रुपये ६०/- तथा आजीवन सदस्यता शुल्क रुपये ७५०/- रखा गया है। वार्षिक शुल्क धनादेश द्वारा 'प्रधान संपादिका, अविराम साहित्यिकी, ऍफ़-४८८/२, गली संख्या ११, राजेंद्र नगर, रुड़की, जिला-हरिद्वार, उत्तराखंड' के पते पर भेजा जाना हैआजीवन शुल्क रुड़की पर देय 'अविराम साहित्यिकी' के नाम में जारी  रेखांकित  'मांग ड्राफ्ट' द्वारा उक्त पते पर ही भेजा जाये। कृपया किसी भी व्यकिगत नाम में कोई राशी न भेजें
  • जो मित्र 'अविराम साहित्यिकी' के 'ओरियंटल बैंक आफ कामर्स' में स्थित खाते में राशी जमा करना चाहें, वे हमसे फोन पर आवश्यक जानकारी ले सकते हैं

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें