आपका परिचय

शुक्रवार, 26 मई 2017

अविराम विस्तारित

अविराम  ब्लॉग संकलन,  वर्ष  :  6,   अंक  :  05-06,  जनवरी-फ़रवरी  2017



।।हाइकु।।


प्रतापसिंह सोढ़ी



हाइकु

01.
ओस की बूँदें
सूरज निगलता
अजगर सा।

02.
दूध में पानी
या पानी में हो दूध
रंग समान।

03.
दीपक बुझा
रेखाचित्र : बी. मोहन नेगी 
अँधेरा गहराया
मन सुलगा।

04.
नभ के आँसू
धरा पर बिखरे
मोती से सजे।

05.
कोई फाइल
आगे बढ़ती नहीं
पहिए बिना।
  • 5, सुखशांति नगर, बिचौली-हप्सी रोड, इन्दौर (म0प्र0)/मोबा. 09039409969

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें