आपका परिचय

बुधवार, 14 फ़रवरी 2018

अविराम विस्तारित

।।कविता अनवरत।।



उषा कालिया






गौरैया

आज बड़े दिनों बाद
गौरैया मेरे आँगन में
चहचहाई है
मेरी बगिया के फूलों पर 
छायाचित्र : उमेश महादोषी 
एक नई रंगत आई है
आसमान पर परिन्दों की कतारें
फड़फड़ाई हैं
सुबह के उगते सूर्य में
अजब सी लाली छाई है
यह सब देख लगता है मुझे
परदेस में पिया को 
मेरी याद आई है।

  • घुग्गर नाले, चाणक्यपुरी, पालमपुर-176061, जिला कागड़ा, हि.प्र./मो. 09418833589 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें