आपका परिचय

बुधवार, 14 फ़रवरी 2018

अविराम विस्तारित

।।हाइकु।।




चक्रधर शुक्ल




चार हाइकु

01.

दिन सरके
फूल झरे पाले में
अरहर के।

02.

पानी बरसा
हवा चली बर्फीली
जाड़े ने पी ली।
रेखाचित्र :
स्व. बी. मोहन नेगी
 
03.

गरम पानी
स्नान के काम आया
जाड़े की माया

04.

ग्रीटिंग कार्ड
क्यों नहीं आते तुम
नये वर्ष में।
  • एल.आई.जी.-1, सिंगल स्टोरी, बर्रा-6, कानपुर-208027(उ.प्र)/मो. 09455511337

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें