आपका परिचय

गुरुवार, 24 मई 2012

132. महावीर उत्तरांचली

महावीर उत्तरांचली








जन्म  :   24.07.1971 को दिल्ली में। 
शिक्षा  :  स्नातक।


लेखन/प्रकाशन/योगदान  :   हिन्दी, उर्दू व गढ़वाली (बोली) पर भाषाधिकार। कहानी, लघुकथा एवं काव्य की विभिन्न विधाओं में रचनायें पत्र-पत्रिकाओं व संकलनों में प्रकाशित। आग का दरिया (ग़ज़लियात), नाचे मन का मोर है (जनक छन्द), अन्तरघट तक प्यास (दोहा) व बुलन्द अशआर (चुनिन्दा शे’र) प्रकाशित कृतियां। सुरंजन द्वारा संपादित ‘तीन पीढ़ियां: तीन कथाकार’ अंक में प्रेमचन्द, मोहन राकेश के साथ तीसरे कथाकार के रूप में शामिल। 
सम्पर्क  :   बी-4/79, पर्यटन विहार, बसुन्धरा एंक्लेव, नई दिल्ली-110096
मोबाइल  :  09818150516




अविराम में प्रकाशन
मुद्रित अंक  :  जून 2011 अंक में चार जनक छन्द।
ब्लाग संस्करण  :   नवम्बर 2011 अंक में जनक छन्द।
                               अप्रैल-मई  2012 अंक में सात  जनक छंद।











नोट : १. परिचय के शीर्षक के साथ दी गयी क्रम  संख्या हमारे कंप्यूटर में संयोगवश  आबंटित  आपकी फाइल संख्या है. इसका और कोई अर्थ नहीं है
२. उपरोक्त परिचय हमें भेजे गए अथवा हमारे द्वारा विभिन्न स्रोतों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है. किसी भी त्रुटि के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं. त्रुटि के बारे में रचनाकार द्वारा हमें सूचित करने पर संशोधन कर दिया जायेगा। यदि रचनाकार अपने परिचय में कुछ अन्य सूचना शामिल करना चाहते हैं, तो इसी पोस्ट के साथ के टिपण्णी कॉलम में दर्ज कर सकते हैं। यदि किसी रचनाकार को अपने परिचय के इस प्रकाशन पर आपत्ति हो, तो हमें सूचित कर दें, हम आपका परिचय हटा देंगे


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें