आपका परिचय

गुरुवार, 24 मई 2012

138. चन्द्रभान भारद्वाज

चन्द्रभान भारद्वाज






जन्म :  4 जनवरी, 1938, गोंमत, जिला अलीगढ़ (उ.प्र.)।
शिक्षा :  वाणिज्य स्नातक, विशारद।


लेखन/प्रकाशन/योगदान :  गीत एवं ग़ज़ल में सृजन। जनक छन्द में योगदान। अनेकों पत्र-पत्रिकाओं में रचनाएं प्रकाशित। टेसू के फूल, इन्दौर के ग्यारह कवि, ग़ज़ल - दुष्यन्त के बाद (भाग-2)आदि कई महत्वपूर्ण संकलनों में गीत-ग़ज़ल संकलित। हिन्दी ग़ज़ल में विशेष पहचान। पगडंडियाँ (हिन्दी ग़ज़लों व गीतों का संग्रह), शीशे की किरचें, चिनगारियाँ, हवा आवाज देती है तथा हथेली पर अँगारे (चारों हिन्दी ग़ज़ल संग्रह) प्रकाशित कृतियाँ। आकाशवाणी से प्रसारण।
सम्मान  :  ‘शीशे की किरचें’ पर अखिल भारतीय अम्बिका प्रसाद दिव्य रजत अलंकरण, ‘हवा आवाज देती है’ पर साहित्य प्रभा एवं म.प्र. लेखक संघ, भोपाल के मेहमूद जकी स्मृति ग़ज़ल सम्मान सहित कई प्रमुख संस्थाओं द्वारा विभिन्न सम्मानों/अलंकरणों से विभूषित।
सम्प्रति :  महालेखाकार, म.प्र. के अधीनस्थ वरिष्ठ सम्भागीय लेखा अधिकारी पद से सेवानिवृत्ति के बाद साहित्य साधना में समर्पित।
संपर्क :  164, श्रीनग मेन, इन्दौर-452018 (म.प्र.) 
दूरभाष : 0731-4293634/2550649
मोबाईल  : 09826025016




अविराम में प्रकाशन 


मुद्रित अंक : जून 2011 अंक में पाँच जनक छन्द।
ब्लाग संस्करण :  फरवरी 2012 अंक में दो ग़ज़लें।













नोट : १. परिचय के शीर्षक के साथ दी गयी क्रम  संख्या हमारे कंप्यूटर में संयोगवश  आबंटित  आपकी फाइल संख्या है. इसका और कोई अर्थ नहीं है
२. उपरोक्त परिचय हमें भेजे गए अथवा हमारे द्वारा विभिन्न स्रोतों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है. किसी भी त्रुटि के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं. त्रुटि के बारे में रचनाकार द्वारा हमें सूचित करने पर संशोधन कर दिया जायेगा। यदि रचनाकार अपने परिचय में कुछ अन्य सूचना शामिल करना चाहते हैं, तो इसी पोस्ट के साथ के टिपण्णी कॉलम में दर्ज कर सकते हैं। यदि किसी रचनाकार को अपने परिचय के इस प्रकाशन पर आपत्ति हो, तो हमें सूचित कर दें, हम आपका परिचय हटा देंगे


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें